ऊँच-नीच


मैंने गगन से पूछा की तुझसे ऊँचा कौन ।
मेरी बात सुनकर वह २ह गया मौन ।
फिर बोला क्या तुम ज़मीन के हो वासी ।
जो ऊँच-नीच की करते हो तुम बात ।

-सुनील गोयल



विविध कविता